Home > 2016 > August
IMG_20160828_133614

शाजापुर जिले में ग्राम समिति गठन के लिए बैठक की गयी

भाइयो और बंधुओ जय जगदीश , कल अरनिया कला , पोलाय कला , पगरावत कला में ग्रामसमिति के लिए बैठक हुई जिसमे सभी ग्रामवासियो का बहुत ही सहयोग मिला इसके लिए सभी बधाई और धन्यवाद के पात्र हे साथ...

satya

अखिल भारतीय चंद्रवंशीय क्षत्रिय खाती समाज मिशन विस्तार

मित्रो जय जगदीश अखिल भारतीय चंद्रवंशीय क्षत्रिय खाती समाज की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के मार्गदर्शन में सोशल मिडिया संगठन का विस्तार करना हे इस मिशन विस्तार में आप सभी के सहयोग की अपेक्षा के साथ आपके समक्ष मेरे विचार रख...

14117720_320817784924683_6678885954054238713_n

खाती समाज के ग्रन्थ “खाती वंश” का विमोचन

खाती समाज पर श्री गोविन्द सिंह बलभद्र द्वारा लिखित भारतवर्ष के इतिहास मे प्रकाशित खाती समाज के प्रथम ग्रन्थ “खाती वंश” का विमोचन मा. श्री गिरिराज मंडलोई (भूतपूर्व विधायक), मा. श्री सोहनसिंह सोलंकी (प्रांत संगठन मंत्री विश्व हिन्दू परिषद्), मा....

IMG-20160815-WA0630

अखंड भारत संकल्प दिवस मनाया गया

१५ अगस्त २०१६ को ७० वे स्वतंत्रता दिवस के उपलक्ष्य में  १४  अगस्त २०१६ को  शाम ६ बजे प्रैस्टिज कॉलेज स्कीम नंबर ७४ में अखंड भारत संकल्प दिवस मनाया गया  जिसमे सभी ने एक साथ अखंड भारत बनाने के साथ भारत को...

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ जिला बद्रीनाथ की वार्षिक बैठक का आयोजन

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ जिला बद्रीनाथ की वार्षिक बैठक का आयोजन एक दिवसीय वर्ग में किया गया जिसमे जिला बद्रीनाथ के सभी  पदाधिकारी गण  जिले के सभी नगर और शाखा के पदाधिकारी और दायित्व वान कार्यकर्ताओ ने हिस्सा लिया। जिले की...

IMG_20160807_141149

वृक्षारोपण कार्यक्रम आयोजन इंडस सेटेलाइट ग्रीन में रखा गया जिसमे २०० वृक्षों का रोपण किया

कहते है जीवन में एक वृक्ष जरूर लगाना चाहिए और उसकी पालन पोषण (देखरेख) करना चाहिए और यही कार्य सभी स्वयंसेवकों में मिलकर बहुत ही खूबसूरत ढंग से किया और २०० वृक्षों का रोपण किया  बधाई के पात्र है आप...

13627194_1660966564224619_77283368915809110_n

काँवड़ यात्रा पार्वती पुल से कालापीपल मुख्य मंदिर तक

जय महाकाल  बंधुओं कालापीपल काँवड़ यात्रा संघ के सदस्यों व वरिष्ठ जनों के निर्देशानुसार यात्रा १ अगस्त को पार्वती पुल से जल लेने के साथ सुबह ९ बजे शुरू होकर नांदनी होते हुए कालापीपल मुख्य मंदिर तक निकाली गयी.